ताड़ासन गोमुखासन के  फायदे, कैसे करें एवं अन्य जानकारियां  -Tadasana Gomukhasana benefits in Hindi

Tadasana Gomukhasana benefits in Hindi – इस लेख में हम जानेंगे कि ताड़ासन  गोमुखासन ( Tadasana Gomukhasana )  और उसके फायदे के बारे में । ताड़ासन  गोमुखासन का अभ्यास करने से शरीर में गठिया रोग से राहत दिलाने में मदद करता है। इससे शरीर को मानसिकता और एकाग्रता में सुधार आता है । तो आईए जानते हैं ताड़ासन गोमुखासन  के  फायदे ( Tadasana Gomukhasana benefits )  , ताड़ासन गोमुखासन  कैसे करें ( Tadasana Gomukhasana Steps ) , ताड़ासन गोमुखासन के  सावधानियां ,  नुकसान एवं अन्य जानकारी के बारे में ।

ताड़ासन गोमुखासन पारंपरिक पहाड़ी मुद्रा का एक आसन है। जिसमें  बाह की विविधता को खुले गाय के चेहरे के रुप में जाना जाता हैं । इस आसन  की अंतिम मुद्रा में आपस में जुड़े हाथ गोमुख का आकार लेते हैं जिसका संस्कृत में अर्थ होता है – “गाय का चेहरा ।”
ताड़ासन गोमुखासन को अंग्रेजी में स्टैंडिंग गौ फेस पोज ( Standing Cow Face Pose ) के नाम से भी जाना जाता है ।

यह आसन पर्वत मुद्रा पर्वत मुद्रा का ही एक रूप है यह कंधे और पीठ की मांसपेशियों को सक्रिय करता है। इसके अलावा, बाहों में खिंचाव कंधे, कोहनी ,कलाई और उंगलियों में गठिया से राहत दिलाने में मदद करता है।
इस योग के माध्यम से प्राप्त होने वाला समग्र प्रभाव अभ्यास कर्ताओं को न केवल उनकी शारीरिक और लचीलेपन बल्कि उनकी भावनाओं, मानसिकता और एकाग्रता में भी सुधार करने में सक्षम बनाता है.

ताड़ासन गोमुखासन ( Tadasana Gomukhasana Benefits  in Hindi) को ठीक प्रकार से अभ्यास करने से शरीर को कई प्रकार से स्वास्थ्य लाभ हो सकते हैं जिनमें मुख्य रूप से निम्न को शामिल किया गया है :

1.   छाती को खुलकर सांस लेने में मदद करता है।

2.  यह हृदय के रोगियों के लिए काफी अच्छा माना गया है।

3.  यह आत्मविश्वास को बढ़ाता है और और साथ के इलाज में भी मदद   
       करता है।

4. घुटनों के जोड़ों को मजबूत बनाता है।

5. शरीर में लचीलापन और आत्मविश्वास को भी बढ़ावा देता है।

6. सपाट पैरों को भी ठीक करता है।

7. Cervical spondylosis  को भी कम करने में मदद करता है ।

यह लेख भी पसंद आएंगे :पद्मासन के फायदे , नुकसान , कैसे करें एवं अन्य जानकारी 

ताड़ासन  गोमुखासन के फायदे ( Tadasana Gomukhasana Benefits ) के बाद अब हम निम्न बिंदुओं के माध्यम से जानेंगे कि ताड़ासन  गोमुखासन को सही तरीके से कैसे करें –

1)  एक समतल , खुली सतह पर ताड़ासन में नंगे पैर पर खड़े हो जाएं अपने बाएं हाथ को अपने पीछे ले जाएं और अपने बाएं हाथ के पिछले हिस्से को अपने पीछे रखें और अपने बाएं हथेली के पिछले हिस्से को अपनी पीठ के बीच में रखें ।

2) अपना दाहिना हाथ उठाएं। अपनी दाहिनी कोहनी मोड़े और अपने हाथ को अपनी हथेली से अपने  शरीर की ओर घुमाएं।

3) अब अपनी दाहिनी हथेली को अपनी बाई हथेली पर रखें और दोनों हाथों की उंगलियों को आपस में जोड़ दें। यदि यह कठिन लगे तो दोनों हाथों की उंगलियों के पैरों को एक दूसरे से स्पर्श करें ।अपनी भुजाओं को झुकने के लिए मजबूर ना करें ।

4) अब अपनी बाई कोहनी को और नीचे करें। फिर अपनी बाई कलाई को अपनी पीठ पर रखें । 20 से 30 सेकंड तक इसी मुद्रा में रहे और इस मुद्रा को दूसरी तरफ भी विपरीतार्थक तरीके से दोहराते रहें।

1. यदि आपको पोलियो या पैरों की अन्य जन्मजात असामान्य बीमारियां
हैं तो या यदि आप घुटने देखते हैं तो अपने पैरों को लगभग 25 सेंटीमीटर अलग रखें।

2. यदि आपको हृदय संबंधी समस्या,माइग्रेन, आंखों पर तनाव, नींद ना आना, निम्न रक्तचाप ,घुटनों का ओस्टियोआर्थराइटिस, दस्त या ल्यूकोरिया है तो इस आसन को करने से बचें।

3.  यदि आपको पीठ में दर्द स्लिप्ड, डिस्क गर्भाशय के खिसकने या कलाई में तकलीफ है तो अपनी बड़े पर की उंगलियों को एक साथ रखें और अपनी ऐडियो को थोड़ा अलग रख ले। इसे किसी योग प्रशिक्षक द्वारा निर्देशित किए जाने पर ही करें।
   
4.  20 से 30 सेकंड तक ही इस आसन को करें। और फिर दूसरी तरफ इस आसन को दोहराएं  ।

5. यदि आपको  उच्च रक्तचाप है तो, इस स्थिति में 15 सेकंड से अधिक समय तक इस आसन को न  करें।

ताड़ासन गोमुखासन( Standing Cow Face Pose ) एक बेहतरीन आसन है ।जिसके अनेक लाभ हैं। जिससे शरीर के कई परेशानियों से राहत पाया जा सकता है ।शरीर में शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने साथ ही कई अन्य प्रकार की गंभीर समस्याओं को कम करने में ताड़ासन गोमुखासन पोज ( Tadasana Gomukhasana Pose ) का नियमित अभ्यास काफी लाभप्रद होता है ।इस आसन को गलत तरीके से करने पर नुकसान भी हो सकता हैं।


हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख ताड़ासन गोमुखासन के फायदे ( Tadasana Gomukhasana Benefits) पसंद आई होगी। इस लेख में हमने ताड़ासन गोमुखासन के बारे में ( Tadasana Gomukhasana) , ताड़ासन गोमुखासन के फायदे ( Tadasana Gomukhasana Benefits in Hindi) , ताड़ासन गोमुखासन में सावधानियां के विषय में हमने जाना है ।अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल पूछना हो या राय देना है तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हमसे जुड़ने के लिए हमारे सोशल मीडिया पेज को आप फॉलो कर सकते हैं।


यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है और किसी भी स्वास्थ्य संबंधी सलाह की जगह नहीं है। ज्ञानी वेब इसकी पुष्टि नहीं करता , किसी भी चिकित्सा निर्णय, उपचार, डाइट इत्यादि का निर्णय लेने से पहले डॉक्टर की तरह सलाह जरूर लें।

यह लेख भी पसंद आएंगे : भुजंगासन कैसे करें , फायदे , नुकसान एवं सावधानियां 

यह लेख भी पसंद आएंगे :पूर्ण भुजंगासन के फायदे , नुकसान , कैसे करें एवं अन्य जानकारी

References:

Leave a Comment