पद्मासन के फायदे , नुकसान , कैसे करें एवं अन्य जानकारी – Padmasana Benefits in Hindi


Padmasana Benefits in Hindi : योगासन के अभ्यास से हम अपने शरीर को स्वस्थ रख सकते हैं। इन्हीं योगासनों में पद्मासन ( Padmasana Yoga ) भी एक योगासन है। पद्मासन दो शब्द पद्म और आसन से मिलकर बना हुआ है जिसका मतलब कमल होता है। यानी इस योगासन में योग करने वाला कमल के पुष्प के समान नजर आता है।

पद्मासन को अंग्रेजी में ( Lotus Pose Yoga) के नाम से भी जाना जाता है । पद्मासन ( Padmasana Yoga) की मुद्रा में बैठने से तन मन और आत्मा को शांति मिलती है। इसके अभ्यास से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। इसके रोजाना अभ्यास से कई गंभीर बीमारियों से बचकर खुद को स्वस्थ रख सकते हैं । तो चलिए आज हम अपने लेख के माध्यम से आपको बताएंगे कि पद्मासन कैसे करें ( Padmasana Steps )  , पद्मासन के फायदे ( Padmasana Benefits )  , सावधानियां ( Padmasana Precautions ) एवं अन्य जानकारी ।

girl doing padmasana for padmasana benefits
Padmasana Yoga Padmasana Steps 
source : freepik.com


पद्मासन क्या है ( Padmasana in Hindi)


पद्मासन ( Padmasana Yoga ) एक प्रकार का योगासन है जिसे हम बैठकर अभ्यास करते हैं। पद्मासन संस्कृत के शब्द पद्म जिसका अर्थ  है कमल और आसन जोड़ कर बनाया गया है । हमारे भारतीय संस्कृति में कमल को धार्मिक रूप से बहुत महत्व दिया जाता है।  माना जाता है कि जिस प्रकार कमल कीचड़ में खिलने के बावजूद उसकी  खूबसूरती नहीं बदलती ठीक उसी प्रकार पद्मासन के अभ्यास से व्यक्ति  तमाम तरह की बुराइयों से खुद को दूर एवं मन को शांत रखने में मदद  मिलती है । यही कारण है अक्सर प्राणायाम करते समय पद्मासन ( Padmasana Yoga) की मुद्रा में बैठने को कहा जाता है ।

चलिए आगे जानते हैं पद्मासन के फायदे ( Benefits of Padmasana) के बारे में ।


पद्मासन के फायदे – Benefits of Padmasana or Lotus Pose in Hindi


1)  दिमाग शांत रखे पद्मासन –
आजकल के भाग दौड़ की दुनिया में हमारे दिमाग में तनाव एवं चिंता बना ही रहता है। ऐसे में दिमाग को शांत रखने के लिए पद्मासन का अभ्यास एक बेहतरीन विकल्प साबित हो सकता है। पद्मासन के दौरान ध्यान भी लगाया जा सकता है जिससे  , मन एवं रक्त संचार बेहतर होता है जिससे शरीर को आराम एवं  मस्तिष्क को शांति मिलती है । ज्यादा तनाव यह बेचैनी महसूस होने पर पद्मासन ( Padmasana Yoga) का सुबह-शाम अभ्यास करना बहुत फायदेमंद होगा ।

2) ऊर्जावान शरीर –
पद्मासन का अभ्यास प्रातः काल सुबह करना बहुत फायदेमंद होगा । इससे शरीर में दिन भर ऊर्जा बनी रहेगी। पद्मासन एक ऊर्जा स्रोत है इस आसन में बैठने से शरीर की शारीरिक एवं मानसिक थकान चिंता दूर होती है। इससे शरीर के ऊर्जा स्तर में भी बढ़ोतरी होती है ।

3 ) पाचन तंत्र में सुधार ( Padmasana for Digestion) -अगर पाचन तंत्र कमजोर हो तो वह शरीर के बहुत से गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है । इससे गैस ,  एसिडिटी , कब्ज आदि की समस्या होते रहती है ।
पद्मासन का रोजाना अभ्यास पाचन तंत्र को मजबूत बनाने में काफी कारगर साबित होता है । इसके रोजाना अभ्यास से पाचन क्रिया में काफी मदद मिलती है ।

4) अनिद्रा की समस्या ( Padmasana for Isonomia)
एक स्वस्थ शरीर के लिए अच्छी नींद पूरी करना बहुत आवश्यक है।
जिन लोगों को नींद ना आने की समस्या होती है उनके लिए पद्मासन ( Padmasana Benefits) बेहतरीन योग है। इस आसन का रोजाना अभ्यास करने से नींद की गुणवत्ता में सुधार एवं रात को अच्छी नींद आती है। अच्छी नींद से शरीर बहुत से रोगों से दूर एवं ऊर्जावान बना रहता है।

5 ) पोस्चर  में सुधार
एक परफेक्ट बॉडी पोस्चर के लिए पद्मासन एक अच्छा योग है । इसकी अभ्यास के दौरान कमर एवं कंधे बिल्कुल सीधे रहते हैं जिससे पर्सनालिटी में सुधार होता है । जो लोग बहुत देर तक एक ही जगह बैठकर काम करते हैं  उनको कुछ समय निकालकर इसका रोजाना अभ्यास करना चाहिए जिससे कमर दर्द आदि की समस्या न बनने पाए।

girl doing padmasana for padmasana benefits
Padmasana Yoga Padmasana Steps 
source : freepik.com

यह लेख भी पसंद आएंगे : पहलवान जैसी ताकत देती है यह एक्सरसाइज , जानिए पूरी जानकारी


पद्मासन कैसे करें – Padmasana Steps  in Hindi  :


1) सबसे पहले जमीन पर पैर बिल्कुल सीधे आगे की ओर फैला कर बैठ जाए।
2) रीढ़ की हड्डी और गर्दन बिल्कुल सीधे होने चाहिए एवं हाथ जमीन पर।
3) अपने दाएं पैर को मोड़कर बाएं पैर की जांघ पर रख लें।
4) ठीक इसी प्रकार अपने बाएं पैर को मोड़कर दाएं पैर की जान पर रखें।
5) अब अपने हाथों को ज्ञानमुद्रा की स्थिति में लाएं और घुटनो पर रखें ।
6) इसी स्थिति में कुछ देर बैठने का प्रयास करें। सांस लें और छोड़ें एवं मन को किसी एक जगह केंद्रित करने का प्रयास करें। ध्यान रहे आंखें बंद होनी चाहिए।
7) इस प्रक्रिया को 5 से 10 मिनट रोजाना अभ्यास करें ।


पद्मासन के दौरान सावधानियां ( Precautions for Padmasana ) –


पद्मासन करते समय कुछ सावधानियां बरतें नहीं तो नुकसान हो सकता है। आईए जानते हैं उन सावधानियां के बारे में –

1) अगर आपके जोड़ों या घुटनों में दर्द रहता है तो इस आसन का अभ्यास न करें ।
2 ) कमर में किसी प्रकार का दर्द हो तब पद्मासन न करें।
3 ) अगर पद्मासन का अभ्यास करते समय किसी प्रकार का शरीर में दर्द उत्पन्न हो तो वही रुक जाए ।
4 ) अपनी क्षमता के अनुसार ही इसका अभ्यास करें किसी प्रकार का जोर जबरदस्ती नहीं करें ।
5 ) बिगिनर्स पद्मासन ( Padmasana Yoga) का अभ्यास शुरू में ही ज्यादा समय तक ना करें पहले 5 मिनट से शुरू करें फिर धीरे-धीरे अपना क्षमता अनुसार बढ़ाते जाएं ।


पद्मासन ( Padmasana Yoga) करने से पहले इन आसनों का अभ्यास करें –


1 )  ऊर्ध्व पद्मासन  (Urdhva Padmasana or Inverted Lotus Pose)
2 )  मत्यासना  (Matsyasana or Fish Pose)
3 ) शीर्षासन (Shirshasana or Headstand)


पद्मासन ( Padmasana Yoga ) करने के बाद इन आसनों को करें –


1) उत्प्लुतिः या तुलासन (Utplithi or Tulasana or Scale Pose)
2) शवासन (Shavasana or Corpse Pose)


पद्मासन ( Padmasana Benefits) कब और कितनी देर करना चाहिए –


पद्मासन करने के लिए कोई  निश्चित समय तो नहीं है लेकिन आपको जब  समय मिले इस अभ्यास कर लें । प्रातः कल सुबह सूरज की किरणों के सामने इसे अभ्यास करना बहुत लाभदायक साबित होता है ।
शुरू में इसका अभ्यास 2 से 5 मिनट तक करना चाहिए । फिर जब आप रोजाना अभ्यास करने में निपुण हो जाए तो इसे 5 – 10 मिनट या इससे अधिक समय तक अभ्यास कर सकते हैं ।


अक्सर पूछे जाने वाले कुछ सवाल – FAQs

[sp_easyaccordion id=”186″]



निष्कर्ष – Conclusion


पद्मासन ( Padmasana Yoga) एक बेहतरीन आसान है जिसके अनेक लाभ ( Benefits of Padmasana) है। इसके अभ्यास से बहुत से शरीर को लाभ होते हैं । अनिद्रा की समस्या से लेकर अन्य तमाम गंभीर बीमारियों को कम करने में पद्मासन का अभ्यास काफी लाभदायक ( Padmasana Benefits) हो साबित होता है ।


हमें आशा है आपको यह लेख पद्मासन के फायदे ( Benefits of Padmasana) पसंद आई होगी । इस लेख में हमने पद्मासन क्या  है ( Padmasana in Hindi) ,  पद्मासन के फायदे( Padmasana Benefits) , पद्मासन कैसे करें( Padmasana Steps) , और सावधानियों के बारे में जाना। अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल पूछना हो या राय देनी हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं।  हमसे जुड़ने के लिए हमारे सोशल मीडिया पेज को आप फॉलो कर सकते हैं ।

यह लेख भी पसंद आएंगे :

भुजंगासन कैसे करें , फायदे , नुकसान एवं सावधानियां 

वॉल स्क्वाट कैसे करें , प्रकार , फायदे , गलतियां आदि .

Disclaimer :
यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है और किसी भी स्वास्थ्य संबंधी सलाह की जगह नहीं है। ज्ञानी वेब इसकी पुष्टि नहीं करता , किसी भी चिकित्सा निर्णय, उपचार, डाइट इत्यादि का निर्णय लेने से पहले डॉक्टर की तरह सलाह जरूर लें।

References :

https://www.onlymyhealth.com/padmasana-benefits-in-hindi-1644386347

Leave a Comment