घर पर योग से पाएं लहराते बाल : 5 Yoga For Hair Growth At Home

5 Yoga For Hair Growth At Home : आजकल बाल झड़ने की समस्या हर किसी को परेशान करती है, और महंगे हेयर ट्रीटमेंट्स से बेहतर है कि हम कुछ प्राकृतिक उपायों का सहारा लें। बालों के विकास के लिए योग का अभ्यास घर पर करना वास्तव में एक अद्भुत तरीका है।योग ना सिर्फ हमारे शरीर को स्वस्थ रखता है, बल्कि बालों की ग्रोथ में भी योगासन एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं,जो सिर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ाते हैं और बालों की जड़ों को मजबूत बनाते हैं।

बाल झड़ने की समस्या को कम करने के लिए भुजंगासन, सर्वांगासन और बालासन जैसे योगासन बहुत फायदेमंद होते हैं। इन्हें करना इतना मुश्किल नहीं है और आप इन्हें घर पर आसानी से कर सकते हैं।सबसे अच्छी बात यह है कि इन योगासनों को करने के लिए आपको किसी विशेष उपकरण कि आवश्यकता नहीं होती। आपको चाहिए, एक योगा मैट और थोड़ा समय जिससे आपके बालों का उपचार हो सके। आपको खुद महसूस होगा कि आपके बाल पहले से ज्यादा स्वस्थ , चमकदार , काले, घने होना शुरू हो जाते हैं। 5 Yoga For Hair Growth At Home को अपने रूटीन में बालों के लिए अवश्य शामिल करें।

5 Yoga For Hair Growth at Home

1 ) भुजंगासन  प्राणायाम (Bhujangasan Pranayam )

2 )  शीर्षासन प्राणायाम (Shirshasan Pranayam)

3)   सर्वांगासन प्राणायाम (Sarvangasan Pranayam)

4)  बालासन प्राणायाम ( Balasan Pranayam)

5)  वज्रासन प्राणायाम (Vajrasan Pranayam)

भुजंगासन प्राणायाम क्या है (Bhujangasan Pranayam in Hindi )

भुजंगासन प्राणायाम एक बेहतरीन आसान है जिसे कोबरा पोज़ भी कहते हैं जो बालों के स्वास्थ्य के लिए एक बेहतरीन योगासन है। यह न केवल आपकी रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनाता है, बल्कि बालों के विकास में भी मदद करता है। यह आपके बालों के लिए चमत्कारिक योगासन साबित हो सकता है, तो आईए जानते हैं भुजंगासन प्राणायाम के फायदे के बारे में।

भुजंगासन प्राणायाम कैसे करें  :(Bhujangasan Pranayam steps in Hindi)

1) सबसे पहले फर्श पर पेट के बल लेट जाएं, अब अपने पैर को एक दूसरे से थोड़ी दूर पर रखें

2) हथेलियां को अपने कंधों के नीचे रखें। अब हथेलियां पर धीरे-धीरे दबाव डालें और शरीर को ऊपर उठाएं आपको यह ध्यान रखना है कि आपकी कोहनी हल्की सी मुड़ी हो।

3) अब सांस लेते हुए अपनी छाती को जितना हो सके ऊपर उठाएं ऐसा करते समय आपकी नाभि जमीन से लगी होनी चाहिए।

4) अपने सर को धीरे-धीरे पीछे की ओर झुकाए और कुछ समय के लिए इसी स्थिति में बने रहे। ऐसा करते समय आपको अपने पेट और पीठ में खिंचाव महसूस होना चाहिए।

5) अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए अपने शरीर को वापस जमीन पर लाएं और आराम की स्थिति में लेट जाएं ।

पढ़ना ना भूलें : अगर पैरों में है दर्द तो इसे जरूर पढ़ें

शीर्षासन प्राणायाम क्या है (Shirshasan Pranayam in  Hindi)

शीर्षासन प्राणायाम योग का एक आसान है जिसमें शरीर को उल्टा किया जाता है और सिर के बल खड़ा हुआ जाता है शीर्षासन प्राणायाम को हेडस्टैंड भी कहा जाता है। यह योगासन बालों के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि इस आसन से सिर में रक्त संचार को बढ़ावा मिलता है जिससे बालों की जड़ों को अधिक पोषण मिलता है और बालों के ग्रोथ में तेजी आता है। आईए जानते हैं शीर्षासन घर पर कैसे करें ।

शीर्षासन प्राणायाम कैसे करें : Shirshasan Pranayam Steps in Hindi )
black pant and orange t shirt wearing women doing shirshasana as lying down with head on floor and leg on up side on floor in room front of colour colour wall 5 Yoga For Hair Growth At Home
Credit Freepik

1 )सबसे पहले एक योगा नेट पर घुटनों के बल बैठ जाएं।

2 )अपनी कोहनियों को जमीन पर रखें और हाथों को इंटरलॉक करें।

3 )अपने सिर को हाथों के बीच रखें।

4 )धीरे-धीरे अपने पैरों को उठाएं और संतुलन बनाते हुए ऊपर की ओर सीधा खड़े हो जाएं।

5) इस स्थिति में 30 सेकंड से 1 मिनट तक रहें। धीरे-धीरे पैरों को नीचे लाएं और विश्राम करें।

सर्वांगासन प्राणायाम क्या है (Sarvagasaa Pranayam in Hindi )

सर्वांगासन प्राणायाम को ‘शोल्डर स्टैंड’ भी कहा जाता है। यह आसन भी बालों की ग्रोथ के लिए काफी फायदेमंद है। यह आसन न केवल बालों के लिए, बल्कि पूरे शरीर के लिए भी लाभदायक हैं। इसकी अभ्यास से थायराइड ग्रंथि को उत्तेजना मिलती है। जिससे हार्मोनल संतुलन बना रहता है

black clothes wearing women doing sarvangasana  on floor in room front of grey colour wall 5 Yoga For Hair Growth At Home
Credit Freepik
सर्वांगासन प्राणायाम कैसे करें : (Sarvagasaa Pranayam Steps in Hindi )

1 ) पीठ के बल लेट जाएं और हाथो को शरीर के बगल में रखें।

2 ) धीरे-धीरे पैरों को उठाएं और हाथो की मदद से अपनी पीठ को सहारा दें।

3 ) पैरों को सीधा ऊपर की ओर रखें और 1-2 मिनट तक इस स्थिति    में रहें।

4 ) धीरे-धीरे पैरों को नीचे लाएं और विश्राम करें।

बालासन प्राणायाम क्या होता है (Balasan Pranayam in Hindi )

बालासन को ‘चाइल्ड पोज’ भी कहा जाता है। यह आसान आरामदायक आसन है जो तनाव को दूर करता है और बालों की ग्रोथ में मदद करता है। बालासन करने से मानसिक तनाव कम होता है और सिर में ब्लड फ्लो बढ़ता है, जिससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। यह आसन पीठ और गर्दन के दर्द को भी दूर करता है,तो आईए जानते हैं बालासन प्राणायाम कैसे करें।

बालासन प्राणायाम कैसे करें : (Balasan Pranayam Steps in Hindi )

1) घुटनों के बल बैठ जाएं और हिप्स को एड़ी पर रखें।

2 ) धीरे-धीरे आगे की ओर झुकें और अपने माथे को जमीन पर रखें।

3 ) हाथों को सामने की ओर फैलाएं या शरीर के बगल में रखें।

4 ) इस स्थिति में 1-2 मिनट तक रहें और गहरी सांस लें

5 ) धीरे-धीरे उठें और सामान्य स्थिति में आएं।

पढ़ना ना भूलें:  डेड स्किन सैल्स को दूर और त्वचा को चमकदार बनाएं

वज्रासन प्राणायाम क्या है ( Vajrasan Pranayam in Hindi )

वज्रासन को ‘डायमंड पोज’ भी कहा जाता है। यह आसन पाचन को सुधारता है और सिर में रक्त संचार को बढ़ाकर बालों की ग्रोथ में मदद करता है। वज्रासन का अभ्यास करने से न केवल बालों की सेहत में सुधार होता है, बल्कि यह पेट के लिए भी फायदेमंद होता है। इस आसन  को खाना खाने के बाद भी किया जा सकता है। जिससे पाचन शक्ति में वृद्धि होती है।

वज्रासन प्राणायाम कैसे करें (Vajrasan Pranayam Steps in Hindi )

1 ) घुटनों के बल बैठ जाएं और हिप्स को एड़ी पर रखें।

2 ) पीठ सीधी रखें और हाथों को घुटनों पर रखें।

3 ) गहरी सांस लें और 5-10 मिनट तक इस स्थिति में रहें।

4 ) धीरे-धीरे स्थिति से बाहर आएं और आराम करें।

योगासन का राजा कौन सा आसन है?

शीर्षासन को योगासन का राजा माना जाता है क्योंकि इसके अनगिनत लाभ हैं।

कौन सा योग बालों की ग्रोथ बढ़ाता है?

शीर्षासन, सर्वांगासन और कपालभाती प्राणायाम बालों की ग्रोथ को बढ़ाने में मदद करते हैं।

क्या शीर्षासन प्राणायाम से बाल दोबारा उगते हैं?

शीर्षासन से सिर में रक्त संचार बढ़ता है, जो बालों की जड़ों को मजबूती देता है और नए बाल उगाने में मदद करता है।

क्या जड़ से गिरने के बाद बाल वापस उगते हैं?

हां, बालों की जड़ें यदि पूरी तरह से नष्ट नहीं हुई हैं तो बाल वापस उग सकते हैं। इसके लिए सही देखभाल और योगासन मददगार साबित हो सकते हैं।। विशेषकर शीर्षासन और सर्वांगासन जैसे योगासन इसमें बहुत मदद करते हैं।

शीर्षासन किसे नहीं करना चाहिए?

उच्च रक्तचाप, हृदय रोग, या गर्दन में समस्या वाले लोगों को शीर्षासन नहीं करना चाहिए।

क्या कपालभाती बाल दोबारा उगा सकती है?

कपालभाती प्राणायाम से शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन होता है और रक्त संचार बढ़ता है, जिससे बालों की ग्रोथ में मदद मिलती है।

शीर्षासन कितने मिनट करना है?

शीर्षासन को शुरुआत में 1-2 मिनट से शुरू करें और धीरे-धीरे इसे 5-10 मिनट तक बढ़ा सकते हैं.

 शीर्षासन कितनी उम्र तक कर सकते हैं?

क्या कपालभाती बाल दोबारा उगा सकती है?
कपालभाती प्राणायाम से शरीर का डिटॉक्सिफिकेशन होता है और रक्त संचार बढ़ता है, जिससे बालों की ग्रोथ में मदद मिलती है।

शीर्षासन कितने मिनट करना है?

शीर्षासन को शुरुआत में 1-2 मिनट से शुरू करें और धीरे-धीरे इसे 5-10 मिनट तक बढ़ा सकते हैं.

क्या हम शीर्षासन से पहले पानी पी सकते हैं?

शीर्षासन से पहले थोड़ा सा पानी पी सकते हैं, लेकिन भारी भोजन या बहुत अधिक पानी पीने से बचना चाहिए।


शीर्षासन कितनी उम्र तक कर सकते हैं?

शीर्षासन किसी भी उम्र में किया जा सकता है, बशर्ते शारीरिक स्थिति अच्छी हो और कोई गंभीर स्वास्थ्य समस्या न हो।

Conclusion  ( निष्कर्ष )

आज के वक़्त में खुद को फिट और आकर्षक बनाए रखने का चलन सबसे अधिक है। यही वजह है कि लोग अपनी बढ़ती उम्र से लेकर अपने झड़ते बालों के निवारण हेतु कोई ना कोई उपाय ढूंढते ही रहते हैं। शायद आप भी उन लोगों में से ही हो जो ऐसा करते है। तो आपकी मदद के लिए यहां ( 5 Yoga For Hair Growth at Home ) योगासन है जो आपकी बहुत सारी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं। जी हां, बालों की ग्रोथ में भी योग मददगार हो सकता है। हमने जाना कुछ योगासनों के बारे में जो हेयर फॉल रोककर आपके बालों की ग्रोथ (5 Yoga For Hair Growth at Home) में मददगार हो सकते हैं।

हमें आशा है कि हमारे द्वारा लिखा गया यह लेख 5 Yoga For Hair Growth At Home पसंद आई होगी। अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल पूछना हो या फिर अपनी राय देनी हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। हमसे जुड़ने के लिए हमारे सोशल मीडिया पेज को आप फॉलो कर सकते हैं।

Disclaimer

यह लेख केवल एक सामान्य जानकारी के लिए है और किसी भी स्वास्थ्य संबंधी सलाह की जगह नहीं है ज्ञानी वेब इसकी पुष्टि नहीं करता चिकित्सा, निर्णय ,डाइट ,उपचार इत्यादि का निर्णय लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

Leave a Comment